10 जुलाई, 2016

चयन आपका






किसी का होना सकारात्मक लगता है 
किसी की उपस्थिति नकारात्मक एहसास देती है 
नकारात्मक गति से 
समय रहते बचने का प्रयास बुद्धिमानी है 
भले ही रक्त संबंध क्यूँ न हो 
.... इस स्थिति से निकलना 
भयानक असमंजसता की स्थिति है 
पूरी ज़िन्दगी उतार-चढ़ाव, 
जानलेवा खाई से गुजरती जाती है 
दिनचर्या पर प्रभाव 
बच्चों पर प्रभाव 
सबसे अधिक अपने व्यक्तित्व पर ग्रहण !!!
... 
इस चक्रव्यूह में 
अपना मन 
अपना दिमाग ही अधिक मारता है 
अपने करीबी मारते हैं 
और असली मृत्यु  ... बहुत दूर होती है !

ज़िन्दगी को जीने के लिए चयन आपका  
- सिर्फ आपका है 
खुली हवा के लिए खिड़की खोलें 
या फिर मन की कमज़ोरी का विषपान करें  ... 

शीशम में शीशम सी यादें

छोड़ कैसे दूँ उस छोटे से कमरे में जाना जहाँ पुरानी शीशम की आलमारी रखी है धूल भले ही जम जाए जंग नहीं लगती उसमें  ... ! न उसमे...